Build Your Career In Insurance Sector By Becoming In Digital Insurance Agent In India.


इंश्योरेंस एजेंट किसे कहते है? इंश्योरेंस एजेंट का कार्य |

इंश्योरेंस एजेंट बनकर बीमा के क्षेत्र में अपना करियर बनाये सम्पूर्ण जानकारी
एक इंश्योरेंस एजेंट बीमा कंपनी ग्राहक (कस्टमर) के बीच रिलेशनशिप बनाता है, जो विभिन्न बीमा कंपनियों के पालिसी बेचने में मदद करता है| साथ-साथ बीमा एजेंट ग्राहक को उसके अनुरूप और सही पालिसी खरीदने में मदद करता है और सलाह देता है जिससे ग्राहक पूरी तरह संतुष्ट हो जाता है| एवं पालिसी फॉर्म भरने में भी अपना भूमिका निभाता है, पालिसी लेने तथा ग्राहक को पालिसी बेचने के बाद बीमा एजेंट का कार्य ख़तम नहीं होता बल्कि ग्राहक को पालिसी लो व्यद्यता तक साथ देना होता है जैसे:- किसी कारन दुर्घटना हो जाता है तो पालिसी क्लैम करने में ग्राहक का सहयोग करता है | इस प्रकार एक बीमा एजेंट का पालिसी बेचने के साथ-साथ और भी बहोत सारी भूमिकाये निभाना पड़ता है |


लोगो को बीमा के क्षेत्र में अपना करियर क्यों बनाना चाहिये?

एक ब्यक्ति बीमा के करियर को बीमा के बहुत से लाभों के लिए पसंद करता है, एवं एक बीमा एजेंट के तौर पर कार्य करने के लिए, व्यक्ति विशेष कार्य को करना चाहता है| इसके और भी लाभ है जिसके लिए बीमा के क्षेत्र को अपने करियर के लिए चुना जाता है|

जैसे:-
·        स्वयम की मालिक बनकर काम कर सकते हो |
·        अपने मर्जी से जब चाहो काम करो जब चाहो घर जाओ |
·        कोई भी अपने बॉस की बकबक सुनने से मुक्ति पा सकता है |
·        एवं असीमित आये कमाने के लिए यह एक सही निर्णय है |
·        विभिन्न पालिसीओ पर आकर्षक कमीशन प्राप्त कर सकते हो साथ ही अच्छे काम के लिए पुरूस्कार भी प्राप्त कर सकते हो एवं मान्यताये भी कमा सकते हो |
इन्ही लाभों के लिए लोग बीमा के क्षेत्र को अपना करियर चुनना पसंद करते है |

बीमा एजेंट कौन बन सकता है एवं योग्यताये क्या होनी चाहिये?

कोई भी ब्यक्ति जो अपना खुद का मालिक बनकर काम करना चाहता है या अपने खुद की पैर पर खड़ा होना चाहता है, उसके लिए यह उचित कार्य है |
बीमा एजेंट बनने के लिए योग्यता इस प्रकार है :- आपकी न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिये | शैक्षणिक योग्यता ग्रामीण क्षेत्रो के लिए कम से कम दसबी कक्षा पास होनी चाहिये, एवं शहरी क्षेत्रो के लिए बारहवी कक्षा उत्तीर्ण होना चाहिये | कोई भी ब्यक्ति जो इन बुनियादी मापदंडो को पूरा करता है, वह बीमा एजेंट बनने के लिए प्रमुख योग्यताये होनी चाहिये | यदि इन मापदंडो को पूरा करते हो एवं अपने लगन-मेहनत से पुरे ईमानदारी के साथ काम करते हो तो आपको एक सक्सेसफुल बीमा एजेंट बनने से कोई नहीं रोक सकता और आप इंश्योरेंस में अपना करियर बना सकते हो इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करे में क्लीक कर अपना करियर अभी प्रारंभ कर सकते हो, यह कार्य या नौकरी जो भी बोल सकते हो फ्रेशर, ग्रेजुएट, स्नातक पास, कॉलेज कर रहे क्षात्रो, एवं गृहणी, रिटायर्ड व्यक्ति, जैसा चाहे पार्ट टाइम या फुल टाइम दोनों रूपों में इस कार्य को कर सकते है |

इंश्योरेंस एजेंट बनने के प्रक्रिया क्या होता है ?

बीमा विनियामक और बिकास प्राधिकरण के दिशानिर्देशो के अनुसार, बीमा एजेंट बनने के एक प्रक्रिया है | बीमा एजेंट बनने के लिए किसी इंश्योरेंस कंपनी के साथ रजिस्टर करना होता है, इसके लिए एक विशेष प्रकार की इंश्योरेंस की ट्रेनिंग से गुजरना होता है, एक निर्धारित परीक्षा दिलाना होता है एक बार यदि इस प्रक्रिया को पालन करके परीक्षा में उत्तीर्ण हो जाते हो तब एक सर्टिफाइड बीमा एजेंट बन जाते हो चलिए इस प्रक्रिया को विस्तार के साथ समझते है:- यदि आप इंश्योरेंस एजेंट बनने की मापदंडो को पूरा करते है, तो आप बीमा एजेंट बनने के लिए नामांकन दाखिल कर सकते है या ऑनलाइन आवेदन कर सकते है | आप जिस भी इंश्योरेंस कंपनी का एजेंट बनना चाहते है उस कंपनी को अपना (के. वाई. सी.) डिटेल्स और KYC डाक्यूमेंट्स सबमिट करना पड़ता है |
जैसे :- अपना आधार कार्ड, पैनकार्ड, बैंक पासबुक, मोबाइल नंबर, ईमेल, और अपना हाल ही का पासपोर्ट साइज़ कलर फोटो | यह सब आपको रजिस्ट्रेशन शुल्क के साथ जमा करना होता है | सफलतापूर्वक रजिस्ट्रेशन करने के बाद इंश्योरेंस एजेंट के लिए ऑफलाइन या ऑफलाइन परीक्षा से गुजरना पड़ता है या आपके ऊपर डिपेंड करता है की आप किस तरह का परीक्षा में शामिल होना चाहते है | यह ट्रेनिंग के अवधि के पश्चात् एक परीक्षा होता है जो की बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (IRDA) के माध्यम से आयोजित किया जाता है जो ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों प्रकार से होता है | हालाकि ऑफलाइन परीक्षा ज्यादा महत्वपूर्ण मना जाता है | परीक्षा उत्तीर्ण हो जाने के बाद आपको एजेंट बनने का लाइसेंस मिल जाता है |

 इंश्योरेंस एजेंट कितना कमाता है |

इंश्योरेंस (बीमा) एजेंट अपने बीमा धारक से उसके प्रीमियम पर कमीशन कमाता है, विभिन्न इंश्योरेंस कंपनियों की कमीशन संरचना (STRUCTURE) अलग-अलग प्रकार के होते है एजेंट अपने जरिये बेचा गया बीमा पालिसी से प्रीमियम राशी का 5% से लेकर 40% तक कमीशन कमाता है | इसके अलावा अच्छा कार्य करने वाले बीमा एजेंट को उसके अच्छे कामो को लिए सराहा जता है एवं विशेष प्रोग्राम के तहत पुरस्कार तथा सम्मानित भी किया जाता है | यह कार्यक्रम बीमा एजेंट को अधिक आये के साथ-साथ गिफ्ट्स वाउचरो और अन्तराष्ट्रीय यात्रा करने का मौका भी मिलता है जो की सारा खर्च कंपनी वहन करता है |
इंश्योरेंस एजेंट को मिलने वाली कमीशन संरचना को समझे ?

POSP सर्टिफिकेशन क्या है? यह बीमा एजेंट्स के लिए उत्तम तरीका क्यों होता है?

बीमा एजेंट को एक साथ बहोत से भूमिका निभाना पड़ता है जैसे ग्राहक बीमा पालिसी के बारे में बताना, सही पालिसी के खरीदने के लिए सलाह देना, बीमा पालिसी फॉर्म को सही तरीके से भरने में ग्राहक का मदद करना तथा एक इंश्योरेंस एजेंट बीमा कंपनियों और ग्राहकों के बिच साथ मिलकर इंश्योरेंस कंपनियों के बीमा पॉलिसियो की बिक्री को बढाने में एवं ग्रहक को उचित पालिसी खरीदने में अपना बहुमूल्य समय और सहयोग प्रदान करता है | इस प्रकार एक बीमा एजेंट एक साथ बहोत से किरदार निभाता है |POSP यह एक तरह का ट्रेनिंग होता है | जो की ऑनलाइन दिया जाता है | POSP ( पॉइंट ऑफ़ सेल पर्सन), यह बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण द्वारा सन 2015 में बनाया गया इंश्योरेंस एजेंट्स के लिए एक नए प्रकार का लाइसेंस होता है | इंश्योरेंस एजेंट के लिए अपना इंश्योरेंस करियर की शुरुआत करने के लिए यह सबसे सुगम तरीका है, इंश्योरेंस एजेंट किसी एक कंपनियों के प्रोडक्ट को या पालिसी को बेचने के लिए बाध्य होते है परन्तु आज के समय में ग्राहक अपने इंश्योरेंस एजेंट से बिभिन्न कंपनियों के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहता है क्योकि ग्राहक अपने लिए एक उचित और सही कंपनी को सेलेक्ट करना चाहता है इसलिए वह अपने बीमा एजेंट से बीमा पालिसी के प्रमुख विषय पर सलाह-मश्वारह करता है ताकि उसको सही पालिसी के बारे में पता चले जो ग्राहक के लिए उचित हो और इस प्रकार वह पालिसी खरीदता है | POSP ( पॉइंट ऑफ़ सेल पर्सन) इसको करने से आपको बतौर POSP ( पॉइंट ऑफ़ सेल पर्सन) सर्टिफिकेट या लाइसेंस मिल जाता है जिससे आप पूरी तरह से विभिन्न कंपनियों के पालिसी को बचेने के लिए कोई भी बाध्यता से मुक्त रहते है | इससे आप सभी बीमा कंपनियों के बीमा जैसे जीवन बीमा या गैर-जीवन बीमा के श्रेणी के बीमा जैसे- दू-पहिया वाहन, कार, हेल्थ पालिसी, यात्रा पालिसी, म्युचुअल फण्ड, दुर्घटना बीमा इस प्रकार आप कोई भी बीमा को बेचने के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र होते है | POSP ( पॉइंट ऑफ़ सेल पर्सन) परंपरागत बीमा लाइसेंस के मुकाबले लोग अपने बीमा करियर के लिए POSP ( पॉइंट ऑफ़ सेल पर्सन) के रस्ते को अपने करियर को शुरू करने के लिए चुन रहे है |

Post a Comment

0 Comments